Valentine day kyun manate hain | वेलेंटाइन डे क्यों मनाते हैं ?

दोस्तों Valentine’s Day आ रहा है सभी लोग इस फेस्टीवल का बेसब्री से इंतजार करते हैं। खास तौर पर हमारी यंगर जनरेशन इसके लिये ज्यादा उत्साहित दिखाई देती है। लोग पहले से ही इसे मनाने के लिये तैयारी करनी शुरु कर लेते हैं | यह 7 फरवरी से शुरु होकर  14 फरवरी तक चलता है | क्या आपने कभी सोचा है कि यह हम मनाते क्यों हैं, यह सबसे पहले यूरोप के कुछ लोग मनाते थे । धीरे-धीरे यह ग्लोबल फेस्टीवल बन गया और अब वेलेंटाइन डे – (Valentine day hindi) लगभग सब जगह मनाया जाता है।

valentine day hindi



 

5 बेहतरीन गिफ्ट्स आपकी वेलेंटाइन के लिए – 5 Best gifts for your valentine

 

 

 

 

 

वेलेंटाइन डे की स्टोरी – History of valentine day in hindi

पहले यूरोप के लोग बिना शादी के एक दूसरे के साथ रह लेते थे और बच्चे भी पैदा कर लेते थे । मतलब पहले स्त्री और पुरुष को एक दूसरे के साथ रहने के लिये शादी करना जरुरी नहीं था और वह कभी भी किसी  के भी  साथ चले जाते थे । काफी लोग ऐसे भी थे जो इस प्रकार की प्रथाओं को पसन्द नहीं करते थे उन्हीं लोगों में से एक सन्त थे उनका नाम वेलेंटाइन था। उन्होंने भारतीय सभ्यता को बड़ी गहराई से पढ़ा था। वह भारतीय संस्कृति से भली भाँति परिचित थे उन्होनें इसके खिलाफ एक अभियान चलाया और कई लोगों को अपना समर्थक बना लिया संयोग वश उन्हें चर्च का पादरी बना दिया गया। अब जो भी ऐसे जोड़े चर्च में आते वह उनकी शादी करा देते थे | सब जगह उनके चर्चे होने लगे ।

उस समय में रोम पर Claudius का राज था | राजा क्लोडियस को वेलेंटाइन के बारे में जब पता चला कि यह यूरोप की वर्षों पुरानी संस्कृति को बदल रहा है तब उसने सोचा कि बिना शादी के जब हमें सब मिल रहा है तो यह इंसान शादी करा कर हमारी संस्कृति को क्यों बदल रहा है । इसी कारण से राजा क्लोडियस ने वेलेंटाइन को लाने का हुकुम दिया | राजा क्लोडियस के दरबार में जब वेलेंटाइन गया तो क्लोडियस ने पूछा “तुम ये क्या कर रहे हो , ऐसी संस्कृति ला रहे हो जो हमें बिलकुल पसन्द नहीं है, तुम इसको बिलकुल बंद कर दो ” | जब वेलेंटाइन ने राजा क्लोडियस की बात नहीं मानी तो उसने वेलेंटाइन को फांसी की सजा देने का ऐलान कर दिया ।

इस प्रकार 14 फ़रवरी 498 को वेलेंटाइन को मृत्यु दंड दिया गया | उसका कसूर बस इतना था कि वह ऐसी कुप्रथा को शादियाँ करा कर बदल रहा था उस समय राजा मृत्यु दण्ड देने के लिये कोई बड़ा कारण नहीं देखते थे बस उनके अनुसार वह जो सजा देते थे जिसको देते थे वह पत्थर की लकीर बन जाता था और कोई भी उसका विरोध नहीं कर सकता  था | जिस दिन उनको फांसी हुयी तो  जिन लोगों की शादियाँ उन्होंने कराई थी उन लोगों ने वो दिन वैलेंटाइन डे के रूप में मनाना शुरू कर दिया | इस तरह इस दिन को यूरोप में मनाना शुरू कर दिया | वहां वैलेंटाइन डे को केवल शादीशुदा लोग ही मनाते हैं लेकिन भारत में लोग वैलेंटाइन की कहानी से अनजान बिना किसी वजह के सालों से वैलेंटाइन डे मनाते आ रहे हैं।

क्यों होती है लड़की के लिप्स पर लड़कों की नज़र

वैलेंटाइन डे वीक – Valentine day week, valentine day hindi week

FEB 7 – Rose Day
FEB 8 – Propose Day
FEB 9 – Chocolate Day
FEB 10 – Teddy Day
FEB 11 – Promise Day
FEB 12 – Hug Day
FEB 13 – Kiss Day
FEB 14 – Valentine Day

अन्य देशो में वैलेंटाइन डे – Valentine day in other countries, Valentine day hindi

चीन -चीन में इसे ‘नाइट्स आफ सेवेंस डे’ के नाम से मनाते हैं । प्यार में मशगूल लोगों के लिये यह दिन बड़े चाव से मनाया जाता है।

जापान और कोरिया जापान और कोरिया में यह दिन ‘वाइट डे ‘ के रूप में मनाया जाता है यही नहीं लोग पूरे एक महीने तक अपने प्यार का इज़हार करते हैं|

फिलीपिन्स – फिलीपिन्स  के लोग इस दिन सामूहिक विवाह करते हैं । वहां तो हजारों लोग इस दिन अपना वैडिंग डे मनाने लगे हैं।

इंग्लैंड- इंग्लैंड में महिलाएं अपने तकिये पर पांच तेज पत्ते रखती हैं, ताकि उनका सपनों का राजकुमार उनके सपनो में उन्हें दिखाई दे।

फ्रांस – फ्रांस को संसार में सबसे रोमांटिक जगह माना जाता है  यहां वेलेंटाइन डे पर जोडा बनाया जाता है । जिस महिला को लड़का पसंद नहीं आता वह उसकी फोटो जलाती है।

आज युवा जनरेशन इस दिन को अपनी मौज मस्ती के लिये मनाते हैं वहीं कुछ लोगों ने इससे अपना व्यापार ही चलाना शुरु कर दिया है ।  ग्रीटिंग , टैडी बियर ,चॉकलेट , तरह तरह के गुलाब, गिफ्टस और  ना जाने क्या क्या  बेचते हैं और सब लोग उनसे यह सब खरीदते भी हैं। हमारा अनुरोध है कि पाश्चात्य सभ्यता को ना अपना कर अपनी संस्कृति का ज्ञान लें।




अगर गुलाब देना ही है तो किसी गरीब बच्चे को देकर देखो ।

अगर चूमना ही है तो ऐसे इंसान को चुमो  जिसकी आपकी जिंदगी में खास जगह है ।

अगर गले ही लगाना है तो ऐसी लड़कियों को लगाओ जिन्हें पैदा होते ही फेक दिया जाता है।

अगर चॉकलेट देनी ही है तो ऐसे बच्चों को दो जो भूख से बिलबिला रहे हैं।

अगर पर्पोस करना ही है तो ऐसे बुजुर्गों को करो जो अपनों के होते हुए भी आश्रम में हैं।

अगर गिफ्ट्स देने ही हैं, तो उन्हें दो जिन्हे उनकी जरूरत है ।

तो दोस्तों इस वेलेंटाइन डे Valentine day hindi को कुछ इस तरह मनायें जिससे किसी के चेहरे पर मुस्कान आ जाये ।

धन्यवाद ।

HAPPY VALENTINE’S DAY

यह भी पढ़ें – बैड पर स्त्रियों की दबी हुई ये ख्वाहिशें जानकर चौंक जायेंगे आप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *