सेहत-नुस्खे

आजकल की भागदौड भरी जिन्दगी में काफी लोग अपनी सेहत का ध्यान नहीं रख पाते हैं । इसीलिये हम लगातार सेहत से जुडी बातेंं (health tips in hindi) बताते रहते हैं । कृप्या इन बातोंं को फोलो करेंं और अपने दोस्तोंं के साथ शेयर करेंं ।

दालचीनी के फायदे

दालचीनी के फायदे

सेहत-नुस्खे
दोस्तों भारत के मसालों का स्वाद और उनकी खुशबू दुनिया भर में प्रसिद्ध है | दालचीनी का सेवन सर्दियों में जरूर करना चाहिए | आप इसका छोटा सा टुकड़ा चाय में मिलाकर पी सकते हैं यह स्वाद के साथ- साथ एक बेहतरीन खुशबू भी देती है | दालचीनी यदि आप खाने में प्रयोग करते हैं तो यह आपके भोजन से हानिकारक बैक्टीरिया को नष्ट कर देती है | साथ ही खाने को खराब होने से भी बचाती है दालचीनी का पौधा छोटा होता है साथ ही इसकी पत्तियाँ व इसकी छाल का भी उपयोग किया जाता है | यह दक्षिण पूर्व एशिया में पाया जाता है | (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});   -> फेस के लिए दालचीनी - दोस्तों दालचीनी से हमारा फेस एक दम साफ हो सकता है जी हाँ दाग धब्बों से रहित चमकता हुआ चेहरा हर किसी को अच्छा लगता है |  इसके लिए आपको करना ये है कि एक चम्मच मुलतानी मिट्टी, एक चम्मच शहद व आधा चम्मच दालचीनी पाउ
पानी पीने के नियम, पानी पीने का सही तरीका

पानी पीने के नियम, पानी पीने का सही तरीका

सेहत-नुस्खे
दोस्तों आज हम आपको कुछ ऐसी बातों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें शायद आप जानते तो हैं पर आपने कभी इन बातों को कोई खास महत्ता नहीं दी | इस पोस्ट में हम आपको पानी पीने के सही तरीकों के बारे में बताएँगे | (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});   आपने हमेशा सुना होगा की पानी खूब सारा पीना चाहिए | पानी पीने से बहुत सारे लाभ होते हैं | हमें प्रतिदिन 2 से 3 लीटर पानी जरूर पीना चाहिए | पर कभी आपने ये सुना है की पानी गलत तरीके से पीने की वजह से हमें बहुत सारी बीमारियों से गुजरना पड़ सकता है | किसी के घुटनों में दर्द है | तो कोई कब्ज, एसिड की समस्या से जूझ रहा है | इतनी सारी ऐसी बीमारियाँ है जिनका हमें पता भी नहीं कि हमें ये हो किस वजह से जाती हैं | आइये आज हम आपको बताते हैं पानी पीने के नियम और पानी पीने के दही समय के बारे में |   -> सही तरीके से
चूना खाने के फायदे – chuna khane ke fayde | chune ke nuskhe

चूना खाने के फायदे – chuna khane ke fayde | chune ke nuskhe

सेहत-नुस्खे
दोस्तों आज हम एक बहुत ही महत्वपूर्ण विषय पर बात करने जा रहे हैं | आज हम बात करने जा रहे हैं चूने की जी हाँ हम उसी चूने की बात कर रहे हैं जो लोग अकसर पान के साथ खाते हैं - chuna khane ke fayde | हममें से बहुत ही कम लोग हैं जो इस बात को जानते हैं कि चूना वास्तव में किसी औषधि से कम नहीं है | आज तक आप चूने को एक सामान्य सी चीज मानते आए होंगे लेकिन आज इस ब्लॉग को पढ़ने के बाद आप चूना आपके घर पर ले ही आएंगे | आपको बता दें दोस्तों कि चूना एक प्रकार की चट्टान होती है, जिसे तोड़कर इसका पाउडर बनाया जाता है | इसे इंग्लिश में limestone ( लाईमस्टोन) भी कहा जाता है | (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); चूने के औषधीय गुण - chune ke fayde -> हड्डियों को करे मजबूत - जी हाँ चूने को यदि हम गन्ने के रस या अन्य कोई भी रस के साथ एक पिंच मिलाकर पीते हैं तो इससे
छोटी सी सौंफ के बेमिसाल फायदे – saunf ke fayde

छोटी सी सौंफ के बेमिसाल फायदे – saunf ke fayde

सेहत-नुस्खे
सौंफ के बारे में आप सभी तो जानते ही होंगे पर इसके फायदे saunf ke fayde के बारे में शायद कम ही जानते होंगे | आज इस पोस्ट में हम आपको सौंफ के कई गुणकारी फ़ायदों के बारे में बताएँगे | सौंफ को सस्ता और स्वादिष्ट नुस्खा माना जाता है | यह स्मरण शक्ति को बढ़ाता है और पाचन तंत्र को मजबूत रखता है | (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); सौंफ में पाये जाने वाले पोषक तत्व - - प्रोटीन - कार्बोहाइड्रेट - पौटेशियम - सोडियम - फास्फोरस - मैग्निशियम - विटामिन सी - विटामिन बी पाचन शक्ति के लिए सौंफ के फायदे - Saunf ke fayde नियमित रूप से आप खाना खाने के बाद सौंफ़ और मिश्री को एक चम्मच जरूर खाइये | इससे ना सिर्फ आप अपना खाना आसानी से पचा पाएंगे बल्कि यह आपकी आँखों के लिए भी काफी अच्छा होता है | सौंफ को तवे पर भून कर पीस लीजिये | बराबर मात्रा में मिश्री मिलाकर रख लीजिये अ
योग दिवस 21 जून को ही क्यों मनाया जाता है ?

योग दिवस 21 जून को ही क्यों मनाया जाता है ?

देश दुनिया, सेहत-नुस्खे
हम सभी लोग जानते हैं कि 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day) मनाया जाता है पर ये नहीं जानते कि योग दिवस 21 जून को ही क्यूँ मनाया जाता है | योग हमारे जीवन के लिए काफी महत्वपूर्ण है, आज हम आपको योग और योग से जुड़ी कुछ अच्छी बातें बताते हैं | (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); योग से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने 27 सितंबर, 2014 को विश्व भर में योग दिवस मनाने का आह्वान किया था | संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 11 दिसंबर 2014 को 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाने का ऐलान किया था | योग के प्रस्ताव को मात्र 90 दिनों में पारित किया गया था | सबसे पहला योग दिवस 21 जून 2015 को मनाया गया था | लगभग 177 देशों में 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाता है | योग सीखने वालों की कुल संख्या 40 करोड़ पार कर चुक
gore hone ke tips – गोरे होने के उपाय

gore hone ke tips – गोरे होने के उपाय

सेहत-नुस्खे
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); फेयर स्किन यानि कि गोरी त्वचा (gore hone ke tips) दोस्तों आज समाज के लिए सबसे पहला आकर्षण आपका चेहरा होता है | चेहरा यदि आकर्षक होगा तो आपके काम काफी सरलता से हो जाते हैं और कोई माने ना माने एक अच्छा सुंदर चेहरा आप की जिंदगी बदल सकता है | चेहरे को आकर्षक बनाने के लिए उसे उचित रूप से पोषण मिलना बहुत जरूरी होता है और वह मिलता है अच्छे खाने से उसके साथ साथ चेहरे के लिए फेस पैक (face pack for skin) बहुत ही जरूरी होता है | इससे चेहरे को पोषण तो मिलता ही है साथ ही साथ चेहरे में कसाव भी आता है | तो आज हम बताने जा रहे हैं आपको कुछ beauty tips in hindi जो आपके चेहरे को और भी सुंदर बना देंगे | दोस्तों आप बाहर की चीजें प्रयोग करते हो तो उनका असर कितने दिन के लिए होता है ? कुछ ही दिनों के लिए और आपको बता दें कि आप लोग फेयर स्किन के लिए
laar ke fayde – लार के फायदे | baasi thuk ke fayde – बांसी थूक के फायदे

laar ke fayde – लार के फायदे | baasi thuk ke fayde – बांसी थूक के फायदे

सेहत-नुस्खे
दोस्तों हजारों साल पहले ऋषि बाग्वट हुये थे, उन्होने ही laar ke fayde के बारे में बताया था | लार के औषधीय गुणों के बारे में जानकार आप भी हैरान हो जाएंगे | मिट्टी में जितने भी तत्व होते हैं वो सब लार में पाये जाते हैं | सुबह-सुबह का बांसी थूक (basi thuk ke fayde) हमारे शरीर के लिए किसी औषधि से कम नहीं है | तो चलिये जानते हैं laar ke fayde और baasi thuk ke fayde के बारे में | एक स्वस्थ व्यक्ति के मुंह में एक दिन में 1000 से 1500 मिलीलीटर लार बनती है | लार में 98% पानी होता है और 2% एंजाइम, बलगम व इलेक्ट्रोलाइट जैसे यौगिक होते हैं | लार के फायदे - laar ke fayde ->मुंह के संक्रमण से बचाव - लार यदि उचित मात्रा में बनती है तो वह आपके मुंह में किसी भी प्रकार का संक्रमण नहीं होने देती | मुंह की बदबू से बचाती है | हानिकारक बैक्टीरिया से निजात दिलाती है | (adsbygoogle = window.adsb
Charbi kaise ghataye – चर्बी कैसे घटाएँ

Charbi kaise ghataye – चर्बी कैसे घटाएँ

सेहत-नुस्खे
दोस्तों मोटापा या charbi आजकल एक बड़ी भारी समस्या बनती जा रही है | लोग तरह तरह की दवाइयाँ खा रहे हैं, आसन कर रहें है | तरह तरह की डाइट ले रहे हैं पर कोई खास परिणाम नहीं मिल रहे हैं | क्योंकि हम जड़ का इलाज तो करते नहीं ऊपरी चीजों का इलाज करते रहते हैं | motapa kyun hota hai, charbi badhti kyun hai इनके कारण का पता करने की बजाय ऊपरी चीजों को ट्राई करने में लगे रहते हैं | आपको बता दें दोस्तों कि हर व्यक्ति का शरीर अलग होता है किसी को आयुर्वेद से आराम आ जाता है तो किसी को दुनिया भर के इलाज से भी आराम नहीं आता | तो भाव यह है कि यदि कोई उपाय आपकी बॉडी पर असर नहीं करता तो आप लोग सोचते हो कि बताने वाले ने ही गलत बताया होगा | पर ऐसा नहीं है | किसी भी चीज को नियम से करना जरूरी है | नियम के साथ समय पर करना और समय के साथ सही मात्रा में और धैर्य के साथ करना जरूरी है | (adsbygoogle = window.ads
तुलसी एक वरदान, तुलसी के फायदे – tulsi ke fayde

तुलसी एक वरदान, तुलसी के फायदे – tulsi ke fayde

सेहत-नुस्खे
दोस्तों आज हम बात करने जा रहे हैं तुलसी के फायदे (tulsi ke fayde) और उसके महत्त्व के बारे में, यह तो सब जानते ही हैं कि तुलसी हिन्दू घरों में आसानी से मिल जाती है | तुलसी का ना सिर्फ औषधीय गुणों की वजह से काफी लाभकारी है बल्कि यह धार्मिक दृष्टि से भी काफी पूज्यनीय मानी जाती है | इसे माँ लक्ष्मी का रूप माना जाता है | तुलसी के बिना विष्णु भगवान की पूजा अधूरी मानी जाती है | (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); तुलसी के प्रकार - Types of basil तुलसी के 5 प्रकार होते हैं - राम तुलसी श्वेत तुलसी श्यामा तुलसी वन तुलसी नींबू  तुलसी एक पंक्ति में यदि बात की जाये तो इन पाँच प्रकार की तुलसी का रस हर मर्ज की दवा है | तुलसी के रस के फायदे - tulsi ark benefits in hindi -> चेहरे के लिए तुलसी (tulsi benefits for skin in hindi) - दोस्तों तुलसी
शुगर कम करने के 10 घरेलू नुस्खे – diabetes control tips in hindi

शुगर कम करने के 10 घरेलू नुस्खे – diabetes control tips in hindi

सेहत-नुस्खे
दोस्तों आज कल हर तीसरा व्यक्ति डाइबटीज़ (Diabetes) यानि मधुमेय रोग से पीड़ित है | इसका समय पर ईलाज करवाना और अपना ध्यान रखना बहुत जरूरी है इस रोग में लापरवाही ना करें दोस्तों क्योंकि यदि किसी कारण से आपको कोई घाव हो जाये या फिर किसी तरह का कोई बड़ा इलाज करवाना हो तो वहाँ इस बीमारी की वजह से आपको काफी भयंकर परिणाम देखने पड़ सकते हैं | इसलिए अपना ध्यान रखें और इस पोस्ट में दिये गए नियमों का (Diabetes control tips in hindi) पालन करें, हम आपकी लंबी आयु व आपके अच्छे स्वास्थ्य की कामना करते हैं | (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});   मधुमेय के कारण ( Diabetes kyun hoti hai ) मधुमेय का कारण है अग्नाशय का पर्याप्त मात्रा में इंसुलिन का उत्पादन ना करना | इसमें शरीर की कोशिकाएं इंसुलिन को ठीक से जवाब नहीं देती | इससे शरीर में ग्लूकोज़ की मात्रा अधिक होने लगती है