शुगर कम करने के 10 घरेलू नुस्खे – diabetes control tips in hindi

दोस्तों आज कल हर तीसरा व्यक्ति डाइबटीज़ (Diabetes) यानि मधुमेय रोग से पीड़ित है | इसका समय पर ईलाज करवाना और अपना ध्यान रखना बहुत जरूरी है इस रोग में लापरवाही ना करें दोस्तों क्योंकि यदि किसी कारण से आपको कोई घाव हो जाये या फिर किसी तरह का कोई बड़ा इलाज करवाना हो तो वहाँ इस बीमारी की वजह से आपको काफी भयंकर परिणाम देखने पड़ सकते हैं | इसलिए अपना ध्यान रखें और इस पोस्ट में दिये गए नियमों का (Diabetes control tips in hindi) पालन करें, हम आपकी लंबी आयु व आपके अच्छे स्वास्थ्य की कामना करते हैं |



diabetes control tips in hindi

 

मधुमेय के कारण ( Diabetes kyun hoti hai )

मधुमेय का कारण है अग्नाशय का पर्याप्त मात्रा में इंसुलिन का उत्पादन ना करना | इसमें शरीर की कोशिकाएं इंसुलिन को ठीक से जवाब नहीं देती | इससे शरीर में ग्लूकोज़ की मात्रा अधिक होने लगती है | इसमें रोगी को पेशाब ज्यादा आता है और भूख प्यास ज्यादा लगती है |

दीर्घकालिक जटिलताओं में – अलसर, दिल का दौरा , किडनी फेल, आँखों से संबन्धित रोग |

और

तीव्र जटिलताओं में – केटोएसिडोसिस, नॉनकेटोटिक हाइपरोस्मोलर, कौमा आदि रोगों के होने का खतरा बना रहता है |

 

मधुमेय के प्रकार ( diabetes types in hindi )

दोस्तों मधुमेय दो प्रकार का होता है –

1 – एक तो जिसमें हमारी बॉडी में इंसुलिन नहीं बनता है |

2 – और दूसरा जिसमें इंसुलिन बनता तो है पर काम का नहीं होता या फिर जरूरी मात्रा में नहीं बन पाता |

ज्यादातर लोगों को हाई शुगर की समस्या होती है | परंतु कुछ लोगों को लो शुगर की समस्या भी रहती है |



मधुमेय रोग में ध्यान रखें ( diabetes control tips in hindi )

  • ब्राउन शुगर व ब्राउन ब्रैड का प्रयोग करें |
  • नॉर्मल टी की जगह आप ग्रीन टी का प्रयोग करें |
  • नियमित रूप से हरी सब्जियाँ खाएं |
  • अधिक मीठे का सेवन ना करें |
  • नियमित रूप से मेडिटेशन करें यह मानसिक तनाव से निजात दिलाता है |
  • नियमित रूप से योगा करें वज्रासन, सेतुबंधासन, सर्वांगसन, आदि जरूर करें |
  • मॉर्निंग वॉक जरूर करें | इससे ना सिर्फ आप स्वस्थ रहेंगे बल्कि डाइबटीज़ के रोगी के लिए यह काफी लाभदायक है |
  • नीम की पत्तियाँ खाएं |

 

यह भी पढ़ें – अजवाइन के फायदे

आम ( diabetes mein aam ke fayde )

  • शुगर की बीमारी में आम के पत्ते काफी फायदा करते हैं | आम के पत्ते रात को भिगोकर रख दें और सुबह खाली पेट वो पानी पी लीजिए | इससे आपको काफी लाभ होगा |
  • आम के पत्तों का चूर्ण बना कर भी आप उसे इस्तेमाल कर सकते हैं | यह भी शुगर कंट्रोल करने में काफी मदद करता है |

 

आंवला ( diabetes mein aanwala ke fayde, diabetes control tips )

  • दोस्तों कुदरत के खजाने में से एक खजाना आंवला भी है | आंवला वैसे तो हमारे लिए काफी फायदेमंद है परंतु शुगर के मरीज के लिए आंवला संजीवनी बूटी के समान है |
  • सर्दियों में आंवला सस्ता और अच्छा आता है | आप इसका अचार भी डाल सकते हैं या फिर इसे सुखा कर इसका चूर्ण बनाकर भी ले सकते हैं | इसके अलावा आंवला कैंडी या फिर आंवले का जूस भी आप अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं |
  • आंवले के जूस को 2 चुटकी हल्दी पाउडर के साथ लेने से शरीर से विषाक्त पदार्थ बाहर हो जाते हैं |

 

ब्रिटेन के वैज्ञानिकों द्वारा कई मरीजों पर आजमाया हुआ फार्मूला –

दोस्तों खाना खाने के तुरंत बाद पेशाब की आदत डालें | यह हमारे शरीर के लिए काफी फायदेमंद है | यह बिलकुल सही है दोस्तों हमारे शरीर की आधी बीमारियाँ तो इसी आदत से दूर हो जाएंगी |

यह भी पढ़ें – कपूर दिलायेगा निजात स्त्री पुरुष के इन गुप्त रोगों से

तुलसी ( diabetes mein tulsi ke fayde )

  • तुलसी एक ऐसा पौधा है जो हर घर में आसानी से मिल जाता है | इतना तो आप सब जानते होंगे कि तुलसी में भरपूर औषधीय गुण पाये जाते हैं | आप को कुछ नहीं करना बस तुलसी के 2 से 3 पत्ते हर रोज खाने हैं | इससे आपकी शुगर नियंत्रित हो जाएगी, आप इसका रस निकाल कर भी पी सकते हैं |

 

100 % शुगर कंट्रोल – 250 ग्राम इन्द्र जौ, 250 ग्राम बादाम व 250 ग्राम काले भुने हुये छिलके वाले चने इनको पीस कर रोज एक चम्मच सादे पानी से सेवन करें 1 महीने तक नियम से इसे इस्तेमाल करने से शुगर एक दम नॉर्मल हो जाएगी |

काफी लोगों पर आजमाया हुआ फॉर्मूला – दो मुट्ठी साफ अच्छी किस्म की गेंहू लीजिये | अब इन्हें आप पानी में उबाल लीजिये | इसके बाद इन्हें कपड़े पर डालकर ठंडा कर लीजिये | इसके बाद आप इन्हें कपड़े में बांध कर 2 से 3 दिन के लिए पानी में भिगो कर रख दें ताकि इनके अंकुर निकल आए | अब आपको यह गेंहू खाने हैं | इससे 80 प्रतिशत लोग बिलकुल ठीक हुए हैं इस फार्मूले को आजमा कर जरूर देख लें | इसे 4 से 5 दिन खाएं तो हार्ट अटैक की समस्या भी कभी भी नहीं होगी |

भिंडी (diabetes control tips) – 4 से 5 भिंडी एक काँच के बर्तन में पानी में काट कर रख दीजिये | सुबह तक उसमें भिंडी गल जाएगी अब आप उस पानी को पी लीजिये इस पानी से शुगर लेवल कंट्रोल हो जाता है |

नीम – नीम व गिलोय की दातुन करें दातुन करते समय जो पानी मुंह में आए उसे बाहर ना निकालें बल्कि अंदर ही गटक लें | इसे आप अपनी दिनचर्या में शामिल कीजिये | इससे भी शुगर लेवल काबू में रहता है |

सेंजना – दोस्तों सहजन या फिर सेंजना या फिर ड्रम स्टिक नाम तो सुना ही होगा | यह हमारे शरीर के लिए इतनी फायदेमंद है जो आप सोच भी नहीं सकते | इसकी जड़ फूल पत्तियाँ सब काफी फायदा करती हैं | अलग अलग प्रकार की दवाइयाँ बनाने में इनका प्रयोग किया जाता है डाइबटीज के मरीज के लिए यह किसी वरदान से कम नहीं है | आप इसके फूलों की सब्जी बना कर खा सकते हैं | इसकी फली की सब्जी बनती है | जो आपको किसी भी अन्य चीज से एक साथ नहीं मिल सकता |

जामुन – दोस्तों जामुन एक ऐसा पेड़ है जिसकी पत्तियाँ, फूल, फल, गुठलियाँ सब शुगर कंट्रोल करने में काफी अच्छी मानी जाती है | जामुन के बीज आप सुखा कर पीस लीजिये | इनका चूर्ण आप नियमित रूप से लीजिये काफी फायदा करेगा | यह चूर्ण आप दिन में दो बार लीजिये काफी लाभ होगा |

एलोवेरा – एलोवेरा भी मधुमेय रोग के लिए काफी अच्छा स्त्रोत है | आप चाहें तो एलोवेरा की सब्जी बना कर भी खा सकते हैं | आप चाहें तो इसका चूर्ण भी बना कर रख सकते हैं या फिर इसका रस भी आप पी सकते हैं | यह शुगर कंट्रोल करने का रामबाण ईलाज है | diabetes control tips.

गेंहू की ज्वारी – गेंहू की ज्वारी यानि के गेंहू को मिट्टी में दबा कर उससे जो हरी हरी घास निकलती है, उसे गेंहू की ज्वारी कहा जाता है | यह शुगर के मरीजों के लिए एक बेहतरीन तोहफा है | इसे भी आप अपनी डाइट में शामिल कीजिये | 5 से 7 दिन की जो ज्वारी है वो आपके लिए और भी फायदा करेगी यह रक्त में शर्करा के प्रभाव को कम कर देती है | इसका जूस निकाल कर या फिर ऐसे ही आप इसे खा सकते हैं |

भांग की पत्ती – दोस्तों नियमित रूप से भांग की एक पत्ती सुबह एक बादाम के साथ खाने से शुगर हमेशा नियंत्रण में रहेगी |

मेथी दाना – मेथी दाने को रात भर एक कप पानी में भिगोकर रख दीजिये | सुबह वह पानी पी लीजिये और मेथी दाना को चबा -चबा कर खा लीजिये | इससे भी आपका शुगर लेवल नॉर्मल रहेगा | आप मेथी दाने का चूर्ण दूध के साथ भी ले सकते हैं | लेकिन दोस्तों इसकी तासीर गर्म होने के कारण आप इसका प्रयोग सर्दी में करें तो बेहतर होगा |

दालचीनी – दालचीनी को पीस कर रात को दालचीनी पाउडर आप हल्के गर्म पानी के साथ ले सकते हैं या फिर दालचीनी को पानी में उबालकर उसे ठंडा करके वह पानी भी ले सकते हैं |

ज्यादा परेशान मत हों | सभी का मर्ज अलग अलग होता है, इसीलिए किसी को कोई उपाय लग जाता है तो किसी को कोई | इस पोस्ट में हमने आपको काफी सारे मधुमेह के उपाय ( Diabetes ke upay, Daibetes control tips ) बताए हैं | ये सब आपको स्वस्थ रखने के लिए भगवान की तरफ से आयुर्वेद का खजाना आपको दिया गया है इसका प्रयोग करें और लाभ उठाएँ |

दोस्तों आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी कैसी लगी हमें जरूर बताइये पसंद आए तो इसे शेयर जरूर कीजिये | कोई सवाल हो तो जरूर पूछिये | पढ़ने के लिए धन्यवाद |

5 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *